Android और iOS – जानिए नए वर्जन में क्या है फीचर्स

iOS 11 का ऐलान हो चुका है यानी आईफोन यूजर्स के लिए खुशखबरी. लेकिन इससे पहले ही गूगल ने भी अपने नए Android वर्जन यानी O का ऐलान कर दिया है. दोनों मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के कमोबेश मुख्य फीचर्स सामने आ गए हैं. कई बार यूजर्स में ऐसी बहस देखने को मिलती है कि एंड्रॉयड बेहतर है या iOS. इस बहस का अंत नहीं है, क्योंकि दोनों अलग ओएस हैं और पसंद के हिसाब से लोग खरीदते हैं. लेकिन हम इतना जरूर कर सकते हैं कि इन दोनों नए ऑपरेटिंग सिस्टम के मुख्य फीचर्स के बारे में बताते हैं. आप पढ़ें और खुद तय करें कि कौन बेहतर है.

Android O – इसमें कुछ फीचर्स iOS से इंस्पायर दिखते हैं, खास कर कॉपीलेस फीचर जिससे कंटेंट कॉपी पेस्ट करने में आसानी होगी.

बैकग्राउंड को लिमिट कर सकेंगे, बैटरी बचेगी
Android O में एक सबसे बड़ा बदलाव हुआ है. इसके तहत बैकग्राउंड को लिमिट किया जा सकता है . यानी बैटरी बचाने के लिए आप इस फीचर को यूज कर सकते हैं.

पहले से बेहतर और डीटेल्ड नोटिफिकेशन
विजुअल चेंज की बात करें तो इस बार कंपनी ने Android O में नोटिफिकेशन चैनल दिया है जिसमें ऐप वाइज नोटिफिकेसन स्टोर होंगे जिससे यूजर्स को देखने में आसनी होगी. अलग अलग तरह के नोटिफिकेशन के लिए कैटिगरी होगी.

ऑटोफिल के लिए खास फीचर
Android O में ऑटोफिल को बेहतर किया जाएगा जिसे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन और भी आसान होगा. जानकारी बार बार नहीं बल्कि एक बार दर्ज करके आगे के लिए सेव कर सकते हैं. कंपनी के मुताबिक ऑटोफिल यूजर डेटा स्टोर करके दूसरे ऐप के लिए इसे यूज कर सकते हैं.

Android TV वाला फीचर भी होगा इसमें
इस फीचर के बाद एंड्रॉयड यूजर्स दूसरे ऐप को यूज करते हुए भी फिल्में देख सकेंगे. यानी अगर वीडियो देखते हुए कोई दूसरा ऐप यूज भी कर रहे हैं तो वीडियो बंद नहीं होगा. मल्टि टास्किंग के लिए बेहतर साबित होगा यह फीचर.

ब्लूटूथ ऑडियो के लिए खास फीचर
Android O में हाई क्वॉलिटी ऑडियो कोडेक्स दिए गए हैं जिसमें LDAC codec भी है. इसके अलावा इसमें हाई परफॉर्मेंस ऐप्स के लिए Audio API भी दिया गया है.

नया वाईफाई फीचर
इस बार वाईफाई ऑप्शन्स में भी कुछ बदलाव देखने को मिलेगा. इसमें WiFi Aware एक फीचर होगा जिसके तहत बिना इंटरनेट एक्सेस प्वॉइंट के ही वाईफाई के जरिए दो डिवाइस आपस में कम्यूनिकेट कर सकेंगे.इस डेवलपर प्रिव्यू वर्जन को गूगल के स्मार्टफोन में टेस्टिंग के लिए यूज किया जा सकता है. गूगल के स्मार्टफोन यानी पिक्सल या नेक्सस डिवाइस. इस डेवलपर प्रिव्यू को एंड्रॉयड की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है.

iOS 11 के ये हैं मुख्य फीचर्स :
कैमरा और फोटो फीचर अब लाइव फोटो को पहले से बेहतर किया गया है. अब लाइव फोटो में से बेस्ट शॉट को काट कर उसे मुख्य फोटो के तौर पर यूज कर सकते हैं. पोर्टेट मोड इमेज को ऑप्टिकल इमेज स्टेब्लाइजेशन के साथ और भी बेहतर किया जा सकता है. नया ऑप्शन लूप और बाउंट इफेक्ट जुड़ा है जो फोटोज को दिलचस्प बनाएगा. सबसे खास बाद कंपनी ने एक नई टेक्नॉलॉजी पेश किया है हाई एफिशिएंसी इमेज फॉर्मेट. इससे iPhone 7 और iPhone 7 Plus से क्लिक की गई फोटो का साइज कम किया जा सकेगा.मैसेज के जरिए भेज सकेंगे पैसे ऐपल पे का दायरा बढ़ा Apple Pay के जरिए अब यूजर्स एक दूसरे को मैसेज में ही पैसे भेज सकेंगे. मैसेज में एक नया ऑप्शन होगा जिसे सेलेक्ट करना होगा. सीरी को बोल कर भी पैसे सेंड किए जा सकते हैं. भेजे गए पैसे को यूजर्स स्टोर्स में खरीदारी करने के लिए यूज कर सकते हैं या चाहें तो उसे अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर भी कर सकते हैं.

कार चलाते वक्त डू नॉट डिस्टर्ब
iOS11 के साथ एक बेहद काम का फीचर भी जुड़ा है. ड्राविंग को सेफ बनाने के लिए डू नॉट डिस्टर्ब व्हाइल ड्राइविंग का फीचर है. अगर आप कार चला रहे हैं तो iPhone इसे डिटेक्ट कर लेगा और फोन की स्क्रीन डार्क कर देगा. इतना ही नहीं आपको कोई नोटिफिकेशन नहीं दिखेंगे. एक ऑटो रिप्लाई ऑप्शन एनेबल हो जाएगा जिससे सेंडर और कॉलर को पता चल जाएगा कि आप गाड़ी चला रहे हैं. ड्राविंग खत्म करने पर ड्राइविंग के दौरान मिलने वाले नोटिफिकेशन एक जगह पर दिखेंगे.

नया कंट्रोल सेंटर
iOS 11 के साथ अब कंट्रोल सेंटर पूरी तरह से बदल जाएगा. इसमें पहले से ज्यादा ऑप्शन दिखेंगे. 3D टच यूज करके पहले से ज्यादा जानकारी मिलेगी. ऑग्मेंटेड रियलिटी(AR)अब डेवेलपर iPhone और iPad के कैमरा में हाई क्वॉलिटी ऑग्मेंटेड रियलिटी एक्सपीरिएंस के लिए नए टूल ला सकेंगे. कंपनी ने इवेंट के दौरान एक दिलचस्प वॉर डेमोंस्ट्रेशन के जरिए ऑग्मेंटेड रियलिटी एक्सपीरिएंस के बारे में बताया जिसने काफी तालियां बटोरीं.

सीरी अब पहले से बेहतर और ज्यादा फायदेमंद है
कंपनी ने बताया है कि सीरी दुनिया का सबसे पॉपुलर पर्सनल ऐसिस्टेंट है जिसे दुनिया भर में 375 मिलियन ऐक्टिव डिवाइस में यूज किया जाता है. इन्हें यूज करने वाले यूजर्स 36 देशों में हैं. सीरी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग को और एडवांस किया गया है ताकि सीरी और भी बेहतर तरीके से आपकी बातों को ससझ सके. खास बात यह है कि अब सीरी के जवाबों में उतार चढ़ाव भी देखने को मिलेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *